वित्तमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में बजट सत्र के दौरान पीएम किसान योजना को लेकर एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की है। इस बैठक के दौरान कई महत्वपूर्ण बदलावों की घोषणा की गई है

जो किसानों के लिए बहुत ही उपयोगी हो सकते हैं। यहां हम इन नए बदलावों की पूरी डिटेल देखेंगे।

बजट में किसानों को अधिक ऋण उपलब्ध कराने का एक महत्वपूर्ण नया बदलाव हुआ है। पहले से किसानों को दिए जाने वाले कृषि ऋणों की सीमा 1.6 लाख रुपये थी,

अब यह सीमा 2 लाख रुपये की गई है। इससे किसानों को अधिक वित्तीय सहायता मिलेगी और उनकी किसानी में वृद्धि हो सकेगी।

इस बैठक में किसानों के लिए बीमा सुविधाओं में भी कई बदलावों की घोषणा की गई है। अब किसानों को किसान बीमा योजना के तहत अधिक लाभ मिलेगा

उनकी फसल के खोने की संभावना से बचाव होगा। इसके अलावा, किसानों को पशु बीमा योजना और बागवानी बीमा योजना में भी अधिक सुविधाएं मिलेंगी।

इस बैठक में किसानों की सहायता करने के लिए टेक्नोलॉजी का भी उपयोग किया जाएगा। किसानों को नवीनतम कृषि तकनीकों का उपयोग करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

इससे किसानों की उपज को बढ़ाने में मदद मिलेगी और उनकी आय भी बढ़ेगी। इन नए बदलावों के माध्यम से पीएम किसान योजना को लेकर कई महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं।

यह सुनिश्चित करेगा कि किसानों को अधिक वित्तीय सहायता मिले और उनकी किसानी में वृद्धि हो सके।